घर पर ही पाएँ वायरल बुखार से छुटकारा

घर पर ही पाएँ वायरल बुखार से छुटकारा 

 

एक वायरल बुखार वह बुखार होता है जो किसी वायरल संक्रमण के परिणामस्वरूप होता है. वायरस छोटे कीटाणु होते हैं जो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में आसानी से फैल जाते हैं.

 

जब आप किसी वायरल रोग जैसे सर्दी या फ्लू की चपेट में आते हैं, तो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली असामान्य रूप से काम करने लगती है. इस असामान्य गतिविधि का एक हिस्सा अक्सर आपके शरीर के तापमान को बढ़ाने में इस्तेमाल होता है ताकि वह वायरस और अन्य कीटाणुओं के लिए प्रतिकूल हो जाए. 

 

ज्यादातर लोगों के शरीर का तापमान लगभग 98.6°F (37°C) होता है. इससे 1 डिग्री या उससे अधिक कोई भी तापमान बुखार का संकेत माना जाता है.

 

बैक्टीरिया से होने वाले संक्रमणों के विपरीत, वायरल बीमारियां एंटीबायोटिक दवाओं से ठीक नहीं होती हैं. इसके बजाय, ज्यादातर वायरल बीमारियों की अपनी एक निर्धारित समय अवधि होती है जिसके बाद वह स्वयं शिथिल हो जाती हैं. यह अवधि संक्रमण के प्रकार के आधार पर कुछ दिनों से लेकर एक सप्ताह या उससे अधिक भी हो सकती है.

 

जब वायरस अपने समय चक्र से गुज़र रहा होता है, तब कई ऐसे उपाय हैं जिनसे आप अपने रोग के लक्षणों का प्रबंधन कर सकते हैं.

 

आम तौर पर हल्के और मध्यम बुखार में चिंता करने की कोई बात नहीं होती है. लेकिन जब शरीर का तापमान ठीकठाक ज़्यादा हो, तो उससे स्वास्थ्य को ख़तरा हो सकता है और ऐसी स्थिति में डॉक्टर को शीघ्र दिखाया जाना चाहिए. साथ ही तेज़ बुखार किसी वयस्क की तुलना में एक बच्चे के लिए अधिक खतरनाक हो सकता है. 

 

कुछ मामलों में वयस्कों के लिए भी बुखार जोखिम भरा हो सकता है. यदि आपके शरीर का तापमान 103°F (39°C) या इससे अधिक हो और दवा से लाभ नहीं हो रहा हो और यह स्थिति तीन दिनों तक रहे, तो यह चिंताजनक स्थिति है. 

 

वायरल बुखार के लक्षणों से छुटकारा पाने के लिए यह उपाय अपनाएँ - 

 

तरल पदार्थ पीना

वायरल बुखार आपके शरीर को सामान्य से अधिक गर्म कर देता है. इससे आपके शरीर को ठंडा करने के प्रयास में पसीने का स्राव होता है लेकिन इससे शरीर में द्रव का नुकसान होता है, जो निर्जलीकरण का कारण बन सकता है. इसलिए वायरल बुखार की स्थिति में जितना हो सके उतना पीने की कोशिश करें. इसमें पानी के अलावा कोई भी पेय पदार्थ काम कर सकता है जैसे रस, स्पोर्ट्स ड्रिंक, शोरबा, सूप वगैरह. इसके अलावा आप घर पर अपना इलेक्ट्रोलाइट ड्रिंक भी बना सकते हैं.

 

ख़ूब आराम करें 

वायरल बुखार इस बात का संकेत है कि आपका शरीर संक्रमण से लड़ने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है. जितना हो सके आराम करके अपनी ऊर्जा बचाएँ. अगर आप बिस्तर में सारा दिन नहीं बिता सकते हैं, तो जितना संभव हो उतना शारीरिक गतिविधि से बचने की कोशिश करें. प्रति रात आठ से नौ घंटे या अधिक नींद का लक्ष्य रखें. दिन के दौरान, कम काम करें. 

 

 

ओवर-द-काउंटर दवा लें

ओवर-द-काउंटर (ओटीसी) दवाएँ बुखार की प्रचंडता को प्रबंधित करने का सबसे आसान तरीका है. आपके बुखार को अस्थायी रूप से कम करने के अलावा, वे थोड़ा कम असहज और सामान्य महसूस करने में आपकी मदद करती हैं. बस इतना अवश्य सुनिश्चित करें कि आप ओटीसी दवा लेने के बाद भी कुछ घंटों के लिए आराम ज़रूर करें. बुखार निवारण की कुछ दवाएँ एसिटामिनोफेन, 

इबुप्रोफेन, एस्पिरिन व नेप्रोक्सन हैं. 

 

जड़ी-बूटियों से उपचार करें 

वायरल बुखार से राहत पाने के लिए जड़ी-बूटियों का प्रयोग भी काफी लाभ देता है. विशेष रूप से इन में तुलसी तथा गिलोय का काढ़ा हर प्रकार के बुखार में अत्यधिक प्रभावकारी रूप से लाभ देता है.