जब एक नर्स ने कहा सर्जरी के दौरान डॉक्टर देखता था पोर्न

जब एक नर्स ने कहा सर्जरी के दौरान डॉक्टर देखता था पोर्न 

 

हैल्थ की दुनिया में यूँ तो बहुत सी अजीबोगरीब घटनाएँ होती रहती हैं लेकिन आज से कुछ वर्ष पूर्व घटी इस घटना ने सबको पीछे छोड़ दिया था. 

 

दरअसल अमेरिका एक अस्पताल की एक नर्स ने अपने अस्पताल प्रबंधन के विरुद्ध आरोप लगाते हुए कहा था कि न केवल उसके साथ वहाँ यहूदी होने की वजह से धार्मिक भेदभाव किया जाता था, बल्कि वहाँ का एक डॉक्टर सर्जरी करते समय भी अपने स्मार्टफोन पर पोर्न फ़िल्में भी देखा करता था. 

 

37 वर्षीय सैंड्रा मॉरिस ने यह सनसनीख़ेज़ आरोप लगाते हुए कहा था कि वह न्यूयॉर्क में माउंट सिनाई मेडिकल सेंटर में काम करने के दौरान यौन दुर्व्यवहार और यहूदी धर्म विरोधी तानों का शिकार हुई थी. 

 

मॉरिस के वकील, स्टीवन वार्शवस्की ने कहा था कि "मॉरिस ने कार्यस्थल में दुर्व्यवहार का अनुभव किया और ऐसा किसी भी कर्मचारी के साथ नहीं होना चाहिए. 

 

मैनहट्टन में न्यूयॉर्क स्टेट सुप्रीम कोर्ट में दायर मुकदमे में सैंडा मॉरिस ने अपने पूर्व पर्यवेक्षक, कार्डियोवस्कुलर परफ़्यूज़निस्ट अहमत सेरियोग्लू पर आरोप लगाया था कि वह बाईपास सर्जरी के दौरान दिल के मरीज़ों को ज़िंदा रखने वाले उपकरणों का संचालन करते समय भी अपने सेल फ़ोन पर एक्स-रेटेड फ़िल्में देखा करता था. 

 

सैंडा मॉरिस द्वारा दायर मुकदमे में कहा गया था कि उस डॉक्टर की यह घटिया हरकत अस्पताल में इतनी सामान्य समझी जाती थी कि अन्य परफ़्यूज़निस्ट इस बारे में अक्सर मज़ाक़ किया करते थे. 

 

मुकदमे में यह भी कहा गया कि सेरियोग्लू मॉरिस को "यहूदी अमेरिकी राजकुमारी" कह कर अपमानित किया करता था तथा विदाई समारोह में उसने अपने सहयोगियों के सामने उसे "गूँगी यहूदी" भी कहा था.