क्या है रजोनिवृत्ति?

क्या है रजोनिवृत्ति? 

 

बुनियादी तौर पर 50 वर्ष से अधिक आयु की महिलाओं में होने वाला एक सामान्य शारीरिक परिवर्तन है. 

 

चिकित्सकीय दृष्टि से रजोनिवृत्ति उस अवस्था को कहा जाता है जब एक महिला ने लगातार 12 महीनों में मासिक धर्म नहीं किया हो, और अब वह स्वाभाविक रूप से गर्भवती नहीं हो सकती हो. यह परिवर्तन आमतौर पर 45 और 55 की उम्र के बीच शुरू होता है, लेकिन इस आयु सीमा से पहले या बाद में भी विकसित हो सकता है.

 

रजोनिवृत्ति स्त्रियों में कई असहजता महसूस करवाने वाले लक्षण पैदा कर सकती है, जैसे कि हॉट फ्लैशेज़ (शरीर के ऊपरी भाग में तेज़ गर्मी के झोंके लगना) और वजन बढ़ना. ज्यादातर महिलाओं को रजोनिवृत्ति से जुड़े इन लक्षणों के लिए किसी चिकित्सा या उपचार की आवश्यकता नहीं होती है. 

 

अधिकांश महिलाएं अपनी रजोनिवृत्ति की अंतिम अवधि तक पहुँचने से चार साल पहले इसके लक्षणों को महसूस करना शुरू करती हैं. यह लक्षण अक्सर उस अंतिम अवधि तक पहुँचने के बाद भी लगभग चार साल तक जारी रहते हैं. 

 

हालाँकि कुछ दुर्लभ मामलों में कुछ महिलाओं को रजोनिवृत्ति से एक दशक पहले ही उसके लक्षणों का अनुभव होना प्रारंभ हो जाता है, और 10 में से 1 महिला रजोनिवृत्ति की अंतिम अवधि तक पहुँचने के बाद भी 12 वर्षों तक उसके लक्षणों का अनुभव करती रहती है. 

 

रजोनिवृत्ति तक पहुँचने के लिए महिलाओं की औसत आयु 51 वर्ष है, हालांकि यह आयु अलग-अलग महिलाओं के लिए अलग-अलग हो सकती है. 

 

ऐसे कई कारक हैं जो यह निर्धारित करते हैं कि कोई महिला किस आयु में रजोनिवृत्ति को प्राप्त होगी. इन कारकों में आनुवांशिकी और स्त्री के अंडाशय का स्वास्थ्य भी शामिल हैं. रजोनिवृत्ति से पहले की स्थिति को पेरिमेनोपॉज कहा जाता है. पेरिमेनोपॉज एक ऐसा समय होता है जब स्त्री के हार्मोन रजोनिवृत्ति से पहले बदलना शुरू करते हैं. 

 

यह स्थिति कुछ महीनों से लेकर कई वर्षों तक रह सकती है. कई महिलाओं में उनकी आयु के चौथे दशक के बाद पेरिमेनोपॉज़ शुरू हो जाता है. वहीं कुछ महिलाएं पेरिमेनोपॉज़ को छोड़ कर सीधे रजोनिवृत्ति की स्थिति में प्रवेश करती हैं. 

 

लगभग 1 प्रतिशत महिलाओं में 40 वर्ष की उम्र से पहले रजोनिवृत्ति शुरू हो जाती है, जिसे समय पूर्व रजोनिवृत्ति या प्राथमिक डिम्बग्रंथि अपर्याप्तता कहा जाता है. लगभग 5 प्रतिशत महिलाएं 40 से 45 वर्ष की उम्र के बीच रजोनिवृत्ति से गुजरती हैं और इसे प्रारंभिक रजोनिवृत्ति कहा जाता है.